Skip to main content

sip investment plan kya hai aur is se crorepati kaise bane| Sip Investment की साड़ी जानकारी और इसका जादू।

 दोस्तो आज हम sip investment के बारे में जानेंगे और Sip investment plan क्या हैं और  एक जादू की तरह कैसे काम करती हैं और how to start sip investment यानी आप कैसे शुरू करेंगे और इसके फायदे उठाएंगे।

इस ब्लॉग में आज हम ये जानेंगे की एक सिंपल इन्वेस्टर जिसको स्टॉक मार्केट की बहुत कम ज्ञान हैं वो कैसे बाकी ट्रेडर्स या इन्वेस्टर्स से कैसे ज्यादा वैल्थी बन सकता हैं।सबसे पहले ये जनलेते हैं की ये sip क्या हैं?

Sip investment क्या है?

दोस्तो ये बहुत ही सिंपल सी चीज हैं लेकिन साथी बहुत ज्यादा जरूरी भी अब यहां पर आप कोई एक इन्वेस्टमेंट करनी वाली  app को सेट करके रखते हो की आपकी अकाउंट से एक अमाउंट कोई स्पेसिफिक तारीख को एक स्पेसिफिक म्यूचुअल फंड या इंडेक्स फंड में ऑटोमैटिक निवेश हो जानी चाहिएं।

मान लो जैसे अपने 5 तारीख को सेट करके रखे हैं तो अगर आपकी सैलरी 1 तारीख को आती हैं तो इस से पहले वो पैसा आप कही और बिगड़े उसमे से एक अमाउंट 5 तारीख को खुद निवेश हो जायेगी।तो दोस्तो दिखने में तो ये एक सिंपल सा चीज लग रहा होगा लेकिन अगर मैं आपको sip invetsment plan की जादू बाटूंगा तो आपके होश उड़ जायेंगे।

Share market

Sip investment plan ki जादू

तो दोस्तो स्टॉक मार्केट में पैसे कमाने k एक बहुत आसान नियम हैं की हमे कोई स्टॉक या म्यूचुअल फंड को एक सस्ते दाम पर खरीदना हैं और फिर उसे एक महंगे दाम पर बेच देना चाहिए।लेकिन दोस्तो यहां प्रॉबलम ये हैं की कोई एक आम आदमी जिसको स्टॉक मार्केट की ज्यादा नॉलेज नही हैं वो कैसे पता करेंगे की मार्केट नीचे जाने वाला हूं या ऊपर जाने वाला हैं क्युकी एक एक्सपर्ट के लिए पता करना भी ये चीज मुश्किल हैं की अगले 6 महीने में मार्केट कहाँ जायेगा।तो यही पर दोस्तो sip investment  का जादू काम आता है ।अब हम इसको एक उदहारण के साथ समझते हैं।

मान लो अपने 5000 रुपए का एक प्लान सेट किया निवेश का हर महीने की 5 तारीख को और वो म्यूचुअल फंड की NAV फिलहाल 100 की हैं तो इस हिसाब से आपको उस म्यूचुअल फंड के 50 यूनिट मिल जाएंगे । और फिर कुछ महीने बाद वो म्यूचुअल फंड के NAV 150 की हो जाती हैं तो फिर आपको उसी म्यूचुअल फंड के 33.33 यूनिट्स मिलेंगे । 5000/150= 33.33 units।

तो अगर मार्केट ऊपर जाता है तो आपको कम यूनिट्स मिलते हैं और यही अगर मार्केट नीचे जाता हैं क्रैश में तो अगर आपने sip को चलने दिया तो आपको ज्यादा यूनिट्स मिलेंगे क्युकी आपने एक फिक्स अमाउंट सेट करके रखा हैं ।

म्यूचुअल फंड Sip

दोस्तो उदहारण के लिए ये एक म्यूचुअल फंड हैं जो मार्च 2008 में आया था और उस समय इसका nav था 10 का और अभी इसका Nav हैं 10.5 का ।मतलब 12 सालो में ये म्यूचुअल फंड 5 प्रतिसत सिर्फ ऊपर गया हैं अगर मैं सरल भाषा में कहूं तो जिसने भी 5 वर्ष पहले इसमें एक लाख रुपए निवेश किए उसकी वैल्यू आज 1 लाख 5 हजार रुपए ही हुए यानी ये एक बैंक के सेविंग अकाउंट से भी खराब थी।लेकिन अगर अपने इसमें SIP investment के द्वारा निवेश किया होता और आपने सिर्फ 1000 रुपए की SIP सेट की हुई होती तो आपने इसमें अब तक 1.6 लाख रुपए निवेश कर चुके होते लेकिन आपकी वैल्यू होती 3.24 लाख जो होता 10.1 % का CAGR । दोस्तो दोनो ही वक्त म्यूचुअल फंड भी वही हैं पर इन्वेस्ट करने का तरीका थोड़ा अलग हैं । तो दोस्तो यही था SIP investment plan की जादू । यह सिर्फ टाइम डाइवर्सिफिक्शन के वजह से सफल हो पाया। आप लोगोने पोर्टफोलियो स्टॉक्स में divrersifiction सुना होगा लेकिन ये टाइम वाला आगे समझते है ।


Time Diversification क्या हैं SIP में।

दोस्तो इसकी सहायता से लंबे समय में लॉस होने के चांस काफी कम हो जाते हैं।क्युकी आप यहां पर स्टॉक मार्केट को प्रेडिक्ट करने का रिस्क पूरी तरह खत्म कर देते हो।इसलिए जब आप एक अमाउंट जैसे हम ने ऊपर 1 लाख से समझा अगर वो एकदम सटीक समय पर निवेश किया जाता जब वो एकदम मार्केट क्रैश के बाद तब वो SIP से ज्यादा रिटर्न ला पाता।लेकिन अगर आपकी टाइमिंग खराब निकली और आपके निवेश करने के बाद मार्केट और ज्यादा नीचे जाता हैं तो आपका रिटर्न और ज्यादा खराब होगा और आप रिग्रेट करते रह जाओ की अपने थोड़ा पैसा बचा के नही रखा बाद में निवेश करने के लिए ।तो दोस्तो अगर हम इस फंड को एनालाइज करेंगे तो हमे पता चलेगा कि इसकी टाइमिंग बहुत ज्यादा खराब थी ये बिलकुल मार्केट क्रैश के पहले शुरू हुआ था और उसके साथ ये म्यूचुअल फंड एकदम खराब फंड भी साबित हुआ जैसे आप देख सकते हो सेंसेक्स और निफ्टी के इंडेक्स के कितने रिटर्न दिए और ये कहा हैं लेकिन फिरभी इतने खराब फंड में निवेश करने के बाद भी लंबे समय में 10 % का CAGR तो इस फंड ने दे ही दिया ।

अब दोस्तो मैं ये सब इसलिए कह रहा हूं क्युकी जब मार्च 2019 में मार्केट क्रैश हुआ था कोरोना के वजह से तो वो समय इन्वेस्ट करने का सबसे अच्छा समय था लेकिन ज्यादातर लोगो ने सिर्फ बेचा था डर से। और ऐसे समय में SIP investment करने वाले ने और जिन्होंने डायरेक्ट निवेश किया उन्होंने भी बहुत अच्छा प्रॉफिट कमाया शेयर मार्केट में। बहुत लोग ऐसे समय में डर जाते हैं और जब मार्केट ओवर वैल्यूड हो जाते हैं तब खरीदते हैं।तो दोस्तो जब एक मौका आता हैं तो वो ज्यादा समय के लिए नही रहता है इसलिए ऐसे समय में हमे मौका का फायदा उठा लेनी चाहिए।

इसलिए आपको अपना माइंडसेट ठीक रखना होगा नही तो मार्केट ऊपर चला जायेगा और आप देखते रह जायेंगे।

Investing ka matlab kya hai ।SIP Investment kya hai

तो दोस्तो मैं आपसे पूछना चाहूंगा की इन्वेस्टिंग का मतलब क्या होता है :–

•क्या इसका मतलब ये होता है की पैसे आपके लिए काम करे।

• या आप पैसों के लिए काम करे।

जब आपने एक बार ऑफिस में मेहनत करके  पैसे कमा लिया हैं  तो वापस उसके लिए काम करने की क्या जरूरत हैं । तो ये SIP एक ऐसा आपको मौका देता हैं जहा पर आप स्टॉक मार्केट के जरिए पैसिव इन्वेस्टिंग कर सकते हो और आप अपने पैसों को काम पर लगा सकते हो ।


हम इन्वेस्टिंग क्यों करते हैं ? Benefits of SIP investment |SIP investment के फायदे।

•क्या हम इसलिए इन्वेस्टिंग करते हैं की इन्वेस्ट करने के बाद हम दिन रात मार्केट की चिंता करने के लिए की कही पैसा न डूब जाए।

•या हम इसलिए इन्वेस्टिंग करते हैं ताकि हमारे पैसों की चिंता दूर हो जाए।

तो अगर आप अपने वेल्थ को ग्रो करने के लिए अपना एक्स्ट्रा फ्री वक्त मार्केट न्यूज और मार्केट गुरु को देखने में लगा दोगे तो आप लाइफ को एंजॉय कब करोगे। तो इसलिए हम sip का फायदा उठाते हैं।

•आपको मार्केट की चिंता करने की जरूरत ही नही पड़ेगी।मार्केट ऊपर जा रहा हैं या नीचे इस से आपको कोई फर्क नहीं पड़ेगा की आपको रोज चेक करना हैं ।

•आप एक डिसिप्लिन के साथ SIP में इन्वेस्ट करते रहोगे तो आपकी अगर सेविंग्स नही भी हो पाती है तो भी आप वेल्थ बना लेते हो लंबे समय में और वो भी बिना टेंशन के ।बस इसके लिए आपको एक ही चीज करनी हैं की जैसे ही आपको आपकी सैलरी मिलती है उसमे से आप पहले sip में ऑटोमैटिक चला जाए एक अमाउंट।

• अगर आप अपने सैलरी का 10-20% ही निवेश करते हो तो आपको पता भी नही चलेगा की आप कुछ निवेश कर रहे हो और कुछ ही महीने में आपकी आदत भी हो जायेगी और आप अपने लिए एक सिस्टम भी बना लोगे जहा से आप अपने लिए वेल्थ बना सको ।

• दोस्तो आप एक छोटे से अमाउंट से यानी 500 रुपए की SIP से भी शुरुआत कर सकते हो जिस से आप एक साथ ढेर सारी कंपनी में निवेश रहोगे।

• आप Power of compounding का फायदा उठा सकते हो।


Conclusion 

जैसा हमने जाना SIP investment , SIP investment plans ,How to start SIP Investment और benefits of sip investment , मैं आपसे एक ही चीज बोलूंगा आप जरूर इन्वेस्टमेंट की शुरुआत करे इंडेक्स फंड या म्यूचुअल फंड के sip के द्वारा। इस से आप फाइनेंशियल फ्रीडम हासिल कर पाएंगे और रिटायरमेंट के बड़े में आपको सोचना नही पड़ेगा।

इन्हें भी पढ़े:–

म्यूचुअल फंड क्या हैं और इसके फायदे

इंडेक्स फंड क्या हैं और इसके फायदे

पैनी स्टॉक्स (penny Stocks) investment

शेयर मार्केट का संपूर्ण ज्ञान

कंपाउंडिंग की ताकत










Comments

Popular posts from this blog

2022 Best 5 Multibagger Penny stocks to buy in India | 2022 के लिए बेस्ट 5 penny stocks ।

Penny stocks to buy in India 2022, penny stocks 2022, 2022 में कौनसे पेनी स्टॉक्स खरीदे। आज मैं आप लोगों को बताने वाला हूं पांच ऐसे पेनी स्टॉक जिसको आप अपने पोर्टफोलियो में ऐड कर सकते हैं| यह सब पेनी स्टॉक इंडिया में दोस्तों आप लोगों को सिर्फ 20 Rs. के आसपास में मिल जाएंगे|ये आर्टिकल में बहुत  रिसर्च करने के बाद लिख रहा हूं तो कृपया इसे पूरा पढ़े ताकि आपको अच्छे से समझ में आए ।अगर इनमें से आपका एक भी स्टॉक मल्टीबैर बन जाता है तो आपको काफी अच्छा रिटर्न देखने को मिल सकता है । लेकिन दोस्तो मेरा मक्सत सिर्फ आप लोगो को कुछ भी बताना नही है बल्कि हर एक चीज की सही तरीके और बारीकी से समझाना है तो आप से एक निवेदन है की आप यह ब्लॉग पूरा पढ़े। चलो आप लोगो मैं एक मजेदार चीज सबसे पहले बताता हूं आप लोगो ने सर Benjamin Graham का नाम जरूर सुना होगा जो अपने टाइम के सबसे होसियार और अमीर निवेशक थे और ये आज के समय के मशूर निवेशक Warren Buffet के गुरु भी थे। और इन्होंने कुछ किताबे भी लिखी है जैसे The Security Analysis , The Intelligent Investor जो की इस फील्ड की बाइबल मानी जाती है और सबने इसे जरूर पढ़ा होग

शेयर का इंट्रिंसिक वैल्यू कैसे निकाले Intrinsic value in hindi,company ki intrinsic value kaise nikale

How to find the Intrinsic value of shares in hindi| किसी भी शेयर का इंट्रिंसिक वैल्यू कैसे निकाले| दोस्तो जब भी हम शेयर मार्केट में किसी भी शेयर को देखते हैं तो रोज उसकी दाम ऊपर नीचे होती रहती हैं और रोज अलग अलग दिखती है यह देखकर हमारे मन में एक प्रश्न उठती है की किस दाम पर खरीदे कौनसा दाम सही हैं खरीदना ? अगर आपके भी मन में ऐसा कुछ प्रदान हैं तो यह ब्लॉग में आपको पूरी जानकारी मिलेगी इसलिए मैं आपसे रिक्वेस्ट करूंगा की आप इसे पूरा पढ़े। What is an Intrinsic value |Intrinsic value kya hain  दुनिया के सबसे अमीर इन्वेस्टर Warren Buffet कहते हैं investing की दुनिया में सबसे जरूरी ये तीन शब्द हैं मार्जिन  ऑफ सेफ्टी इसका मतलब यह हैं कि जब आप कोई स्टॉक खरीदते हो तो आपको शेयर के इंट्रिसिक वैल्यू से कम मूल्य में खरीदना चाहिए और एक मार्जिन ऑफ सेफ्टी रखना चाहिए लेकिन अगर आपको इंट्रिंसिक वैल्यू कैलकुलेट करना ही नही आता तो आप मार्जिन ऑफ सेफ्टी कैसे स्तिमाल करोगे।तो आज हम जानेंगे की कोई भी कंपनी की रियल वैल्यू कैसे पता लगाए जिस से आपको यह पता चल सके कि वो स्टॉक महंगे में बिक रहा हैं या सस्ते में और

कौनसा Penny Stocks ले और कैसे crorepati बने cheap stocks से और पैनी स्टॉक्स क्या हैं।

दोस्तो आज हम बात करने वाले है penny Stocks के बारे में ये ऐसे स्टॉक्स होते हैं जो 2रुपए से बढ़कर 2000 तक भी जा सकते हैं।कहने का मतलब यह ही की आपके बहुत कम इन्वेस्टमेंट को बहुत ज्यादा बढ़ा सकते हैं और इसके साथ इस ब्लॉग में हम और भी चीज जानेंगे जो penny stocks ya cheap stocks से रिलेटेड हैं जैसे :– • स्टॉक्स स्प्लिट (stocks split) • मार्केट कैप • कंपनी का शेयर प्राइस बढ़ता या गिरता कैसे हैं दोस्तो हम सबने राकेश झुनझुनवाला का नाम तो सुना ही हैं जिन्होंने investing के जरिए काफी पैसे कमाए हैं और ये भी सुना होगा की उन्होंने अपने जिंदगी का सबसे बड़ा इन्वेस्टमेंट Titan कंपनी में किए हैं।उन्होंने इस कंपनी में 2003 में इन्वेस्ट किया था जब इस कंपनी का शेयर प्राइस 3 रुपए था और ये इन्वेस्टमेंट लगभग 500 गुना ऊपर जा चुका हैं। और भी अपलोगो को ऐसे बहुत सारी कहानी सुन ने को मिलती होगी की आप किसी कंपनी में कुछ हजार रुपए इन्वेस्ट करते हैं जब वो कंपनी का शेयर प्राइस 2 रुपए या 5 रुपए का था तो अपने उस से काफी ज्यादा वेल्थ बना ली होती लेकिन हमे ये स्टॉक्स मिलेंगे कैसे क्युकी स्टॉक मार्केट में जो कंपनी अच्छ